कही आपके शरीर में भी तो नहीं जम रहे रक्त के थक्के

1100
Loading...

शरीर में खून के थक्के जमने के कई कारण हो सकते हैं, इसीलिए आपको इस बारे में जाने की बहुत ज़्यादा ज़रूरत हैं, आपने अक्सर देखा होगा की जब हमारे कही कट लगने के कारण खून निकलने लगता हैं तो वह पर पपड़ी जम जाती हैं जो हमारे खून के बहने को रोकती हैं. लेकिन कई बार ऐसा होता हैं की यह थक्के ऐसी जगह जमने लगती नहीं जहा कोई ज़रूरत नहीं होती हैं.

इसके अलावा यह कई बार हमारी जान के लिए भी बेहद खतरनाक हो जाते हैं, रक्त के थक्के स्ट्रोक या दिल का दौरा पड़ने का कारण भी बन सकते हैं.

डॉक्‍टरों का मानना है कि खून का एक थक्का भी टूट कर अगर खून में मिल जाए तो वो फेफड़ों के किसी भी नस में खून के बहाव को रोक सकता है, जो इंसान की जान भी ले सकता है. इसीलिए इसके बारे में पूर्ण जानकारी होना बहुत ज़्यादा आवश्यक होता हैं.

यहाँ हम आपको बताएंगे के की कौन से हैं वो लक्षण जिससे आपको पता चलेगा की आप के शरीर में जम रहे हैं खून के थक्के और इन लक्षणों के सामने आते ही आपको तुरंत डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए.

खून के थक्के जमने के यह होते हैं लक्षण:

सांस में तकलीफ होना:

सांस की तकलीफ भी फेफड़ों में खून के थक्के के लक्षणों में से एक है. अगर आपको किसी प्रकार की सास लेने में तकलीफ हो रही हैं तो हो सकता हैं की आपके फेफड़ो में खून के थक्के जम गए हो.

Advertisement
Loading...

फेफड़ो में खून के थक्के जमने के कारण लोगो को सांस लेने में तकलीफ होती है और सीने में दर्द होता है. अगर आपको सीने में दर्द, चक्कर आना या रेसिंग हार्ट जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत किसी चिकित्‍सक से सलाह लें बिना देरी किये आपको इसका टेस्ट कराकर इलाज करवाना चाहिए.

 

त्‍वचा पर लाल धारियां होना:

रक्‍त के थक्‍के नसों के साथ लाल धारियों के रूप में दिखाई दे सकते हैं. इसे सामान्‍य नसों की तरह नहीं माना जा सकता है. जब आपको अपने चेहरे में इस प्रकार की नसे दिखने लगे तो यह सामान्य नहीं होती हैं यानी जिस जगह पर थक्का होगा उसके आसपास त्वचा का रंग भी बदल जाता हैं.

अगर आपकी त्वचा लाल या नीले रंग की हो गई हैं तो इसके लिए तत्‍काल चिकित्‍सा सहायता लिया जाना बहुत जरूरी है.

अस्पष्टीकृत खांसी:

खासी हर किसी को आती हैं लेकिन अगर आपको लगातार अस्पष्टीकृत खांसी आ रहे हैं तो यह भी खून के थक्के के मुख्य लक्षणों में से एक है, जिसके लिए आपको अपने हार्ट रेट और सांसों पर नजर रखने की जरूरत है, आपको इरन्तार इन चीज़ओं को चेक करते रहना चाहिए .

इसके साथ बहुत ज्यादा गंभीर अवस्था में हल्का बुखार हो जाता है. किसी भी रूप में किसी भी तरह की अनियमितता होने पर तुरंत डॉक्टर को सूचित किया जाना बहुत ज़रूरी हो जाट हैं.

पैरों में सूजन:

कई लोगो के पैरो में सूजन लगातार किसी ना किसी कारण से बनी रहती हैं इसका एक कारण ब्लड क्लोट्स भी हो सकता हैं, पैरों में सूजन को डीप वेन थ्रोम्बोसिस के रूप में जाना जाता है.

यह एक ऐसी अवस्‍था है जिसमें ब्‍लड सर्कुलेशन प्रभावित होती है, या किसी जगह पर ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो रहा होता हैं यह अवस्‍था महत्‍वपूर्ण अंगों के लिए ऑक्‍सीजन के हस्‍तांतरण रोकता है, इसलिए इसका तुरंत इलाज किया जाना चाहिए.

दर्द या अकड़न महसूस होना:

अगर किसी को दर्द महसूस होता है या किसी प्रकार की शरीर में अकड़न महसूस होती हैं तो यह खून के थक्‍के के लक्षणों में से एक हो सकता है.

अगर थक्के पर हाथ रखें व हल्की गर्माहट सी महसूस होती है.

उठने या बैठने पर दर्द होता है.

अगर यह सारे आपके लक्षण हैं तो आपको तुरंत किसी अच्‍छे डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि खून के थक्के जमने के कारण लोगों की जान भी जा सकती हैं यह एक गंभीर बिमारी होती हैं जिसे नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए.

know the symptoms of blood clots in yur body if you will see these symptoms in your body do not avoid it go and consult to the doctor

web-title: symptoms of blood clots

keywords: blood clots, symptoms, causes, tips

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here