ब्रेन हैम्ब्रेज हैं जानलेवा, जाने इसके लक्षण वा बचने के उपाय

248
Loading...

एक सर्वे के अनुसार ब्रिटेन में हर वर्ष पांच हजार लोग सबअरैक्नॉइड हैमरेज़ से प्रभावित होते हैं. इसके अलावा विश्व में हर 40 से 45 मिनट में किसी को मस्तिष्क का दौरा आता हैं और हर 3 मिनट में इसके कारण किसी की मृत्यु होती हैं, जिसके कारण यह ह्रदय रोगों और कैंसर के बाद सबसे बड़ा तीसरा खतरनाक रोग हैं इसीलिए इससे बचने के लिए हमे इसके कारणों को और इसके बचाव की जानकारी होना अत्यंत आवश्यक हैं.

राष्ट्रीय विश्वसनीयता जांच ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार मरीज़ों की स्थिति और मृत्यु को लेकर (एनसीईपीओडी) में कहा कि सामान्य रोग चिकित्सक मस्तिष्क आघात के लक्षणों की पहचान करने में विफल रहते हैं और स्वास्थ्य लाभ की स्थितियां खराब हैं.

ब्रेन हैम्ब्रेज यानी मस्तिष्क आघात, की समस्या भी आजकल आम होती जा रही हैं ब्रेन हैमरेज विशेषकर धमनी विकार से पीड़ित व्यक्ति की जांच या उसके इलाज में हुई देरी मरीज़ की देखभाल के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है, जिसके कारण व्यक्ति की ऑन दा स्पॉट मौत भी हो सकती हैं, इसका मुख्य कारण हैं लोगो द्वारा इसके लक्षणो को ना समझ पाने की और तुरंत ना मिले चिकित्सा के कारण व्यक्ति को जान से हाथ धोनी पड़ती हैं

क्या होते हैं ब्रेन हैम्ब्रेज के कारण:

ब्रेन हैम्ब्रेज के यह कुछ कारण हैं जिन्हें नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए तेज सिरदर्द हो, उल्टी आए, उच्च रक्त चाप हो व लम्बे समय से डायबिटीज हो तो सावधान रहें क्योंकि इन रोगों की वजह से मस्तिष्क की रक्त की नली फट सकती है, हाई ब्लड प्रेशर को सबसे बड़ा इसका कारक माना जाता हैं.

मधुमेह के रोगियों में इसके होने की ब्रेन हैम्ब्रेज होने की आशंका अन्य लोगो के मुकाबले 2 से 3 गुना ज़्यादा होती हैं, इकसे अलावा जिन्हें दिल की बीमारिया होती हैं या जो लंबे समय से हाई ब्लड प्रेशर से जूझ रहे हो या फिर आनुवंशिक भी हो सकता हैं, 55 साल के ऊपर के लोगो में इसके होने की आशंका भी ज़्यादा होती हैं

उन्होंने बताया कि इसके रोगियों में देखा जाता है कि व्यक्ति के मस्तिष्क की खून की नली में गुब्बारे जैसा बन जाता है जो कुछ समय बाद फट जाता है लेकिन अगर इस नली को समय रहते सर्जरी के द्वारा क्लैम्प लगाकर बंद कर दिया जाए तब हालात पर पकड़ पाना मुश्किल हो जाता हैं लेकिन कई बार व्यक्ति को इसका पता ही नहीं चल जाता जिस कारण उसे ब्रेन हैमरेज हो जाता है.

Advertisement
Loading...

यह भी हैं कारण:

जो बहुत ज़्यादा तनाव में रहते हैं.

वज़न बहुत ज़्यादा हो, मोटापे के कारण.

जन्मजात रक्तवाहिनी के रोगी हो.

नियमित शराब तम्बाकू का प्रयोग करने वाले.

बहुत अधिक धूम्रपान करने वाले.

गर्भनिरोधक गोलिया लेते हो या किसी प्रकार की हॉर्मोन्स की गोलिया लेते हो.

उच्च कॉलेस्टेरोल के मरीज़ों में भी यह समस्या होती हैं.

क्या हैं इससे बचने के उपाय:

ब्रेन हैम्ब्रेज से बचने के लिए में इन टिप्स को अपने ख्याल में रखना चाहिए जिससे आप इस खतरनाक जानलेवा बिमारी से बच सके.

अगर आप दिल की बिमारी से ग्रस्त हैं या आपको मधुमेह हैं और वो लोग जिन्हें उच्च रक्तचाप हैं और हाई कॉलेस्टेरोल से पीड़ित हैं, मरीज़ो को अपना चेकअप कराते रहना चाहिए और भोजन वा अपनी दिन चर्या का ख्याल रखना चाहिए.

ऐसे मरीज़ों को अपनी दवाइयों का भी ख्याल रखना चाहिए.

अगर आप धूम्रपान करते हैं वा तम्बाकू का सेवन करते हैं तो आपको चाहिए की आप इसे बंद कर दें.

तनाव मुक्त रहने की कोशिश करे, और हमेशा खुश रहे.

इसके अलावा नियामित व्यायाम और योग का सहारा लें

खुद को फिट रखे अच्छा पोष्टिक अहारा खाये.

अगर आप सिर दर्द की परेशानी से ग्रस्त हैं तो तुरंत डॉक्टर से चेकअप कराये.

brain hemorrhage is a dangerous disease, these are symptoms and that is how you can prevent your self from brain hemorrhage.

web-title: symptoms and cuases of brain hemorrhage

keywords: brain hemorrhage, symptoms, causes, prevention

 

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here