जाने आखिर क्यों पीरियड्स के दौरान बढ़ जाता हैं महिलाओं का वज़न

744
Reason of having sudden changes in weight During periods
Loading...

पीरियड के दौरान अक्‍सर महिलाओं व लड़कियों को ब्‍लोटिंग की समस्‍या से गुजरना पड़ता है, जिसकी वजह से पीरियड आने से पहले उनका वजन बढ़ जाता है ऐसा कायो कारणों से होता हैं जो आज हम आपको बतायेंगे बाद में वो सामान्‍य वजन पर आ जाती हैं. आइए जानते है इस बारे में के ऐसा होता क्यों है.

गर्ल्‍स को पीरियड्स के दिनों कई तरह की समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है.  पेट दर्द, कमर दर्द और कमजोरी होना होता लेकिन क्‍या आपने एक बात नोटिस की है. कई लड़कियों का इस दौरान एकदम से वजन बढ़ जाता है और पीरियड खत्‍म होते ही उनका वजन सामान्‍य दिनों वाला हो जाता है.

कई लड़किया ये भी शिकायत करती है कि पीरियड के दौरान या आसपास के दिनों में उनके ब्रेस्‍ट में भी भारीपन आ जाता है और इसी प्रकार की कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता हैं कई लड़कियों को पीरियड के दौरान वजन बढ़ने जैसी समस्‍याओं से गुजरना पड़ता है

इस आर्टिकल में हम बता रहे है कि आखिर क्‍यूं पीरियड में अचानक से वजन बढ़ जाता है.

जाने क्यों आखिर पीरियड्स के दौरान अचानक से बढ़ जाता हैं आपका वज़न:

ब्लोटिंग या वाटर रिटेंशन की समस्‍या:

Advertisement
Loading...

पीरियड के दौरान या आने से पहले अचानक से वेट गेन की समस्‍या को , ब्लोटिंग या वॉटर रिटेंशन कहते है ऐसा ज़यादातर लोगो के साथ होता हैं.  बहुत सी महिलाओं को पीरियड शुरु होने से हफ्तेभर या दो हफ्ते पहले ऐसा महसूस होता है की उनका वज़न बढ़ गया है.

दरअसल पीरियड्स से पहले शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलावों की वजह से शरीर में तरल पदार्थ जमा होने लगते हैं. यही वजह है कि बहुत सी महिलाओं को पीरियड्स से पहले उनका वज़न बढ़ा हुआ महसूस होता है साथ ही उन्हें इस समय ब्रेस्ट टेंडरनेस जैसी अन्य असुविधाएं भी महसूस होती हैं और प्रेगनेंसी के अलावा पीरियड्स लेट होने के कारण भी यह समस्‍याएं होती हैं.

गैस और डायरिया होने की वजह से:

पीरियड के दौरान लड़कियों का मूड ब‍हुत जल्‍दी स्विंग होता है तो मीठा या नमकीन खाने की इच्‍छा होनी लाजमी सी है अधिक नमकवाली चीज़ें ज़्यादा खाने से आपके शरीर में तरल पदार्थ जमा होने लगते हैं, और आपका शरीर फूला हुआ या वज़न बढ़ा हुआ महसूस होने लगता है और इनदिनों आपका मूड भी बहुत ज्यादा खराब होने लगता है.

यह तरल पदार्थ आपके दिमाग और पेट की रक्त धमनियों पर भी दबाव बनाता है, और उन्हें परेशानी बढ़ाता है. पेट में बनी गैस और डायरिया की वजह से आपका शरीर और फूला हुआ दिखायी पड़ता है जिसके कारण आप मोती नज़र आती हैं.

इस दौरान इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने से आपके शरीर में और अधिक हार्मोनल बदलाव और ब्लोटिंग का कारण बनते हैं पीरियड्स में देरी से आने के लिए गोलियां खाने से पहले जान लें उनके बारे में.

कम नमक खाएं :

शरीर में वॉटर रिटेंशन को कम करने के लिए आपको खाने में नमक की मात्रा कम करनी होगी और अचार, ब्रेड, सोडियम से भरपूर चीज़ें और सोडा जैसी चीज़ों से बचें जो ब्लोटिंग को कम करने में मददगार साबित होगा और संतुलित आहार खाएं, जिसमें ढेर सारी सब्ज़ियां और फल शामिल हों और आपको हाइड्रेट रखने में मदद करें. खान-पान से जुड़े छोटे-मोटे बदलाव करने से आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होगी.

there are several problems that come through the time of period one of the problem of having sudden changes in weight know the reason.

web-title: Reason of having sudden changes in weight During periods

keywords: weight, problem, periods, problem, reasons

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here