बच्चो में टेलीविज़न का शौक हो सकता हैं खतरनाक

279
Loading...

अत्यधिक टीवी देखना बच्चो के लिए बहुत हानिकारक होता हैं. आजकल बच्चे ज़्यादातर अपना समय टीवी देखने में बिताते हैं. बहुत ज़्यादा टीवी देखने वाले बच्चो के अंदर तेज़ी से बदलाव आते हैं. उनके स्वाभाव में चिड़चिड़ापन आ जाता हैं और बच्चे अत्याधिक आक्रामक हो जाते हैं .

कनाडा के मांट्रियल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और प्रमुख शोधकर्ता लिंडा पागानी ने कहा  “वैसे बच्चे जो टेलीविजन देखने के आदी होते हैं, उन बच्चो का स्वाभाव स्कूल में और बच्चो की तुलना में एकांत और आक्रामक होता हैं ऐसे बच्चे आसामाजिक व्यवहार अपनाते हैं”

screenshot_8

एक अध्ययन पत्रिका ‘साइकोलॉजिकल मेडिसिन’ के मुताबिक .इसके लिए 1997/1998 में पैदा हुए बच्चो के ऊपर एक सर्वे हुआ जिसके मुताबिक 991 लड़कियों वा 1006 लड़को के माता पिता ने अपने बच्चो का घंटो टीवी देखना की बात कही.

13 साल की उम्र में ही इन बच्चो के स्वाभाव में तेज़ी से बदलाव आते देखा गया. बच्चो में निम्न प्रकार के बदलाव देखे गए.

शोधकर्ताओ ने दो साल के बच्चो के अत्यधिक टीवी देखने  वाले माता पिता के द्वारा दिए गए आँकणों के मुताबिक
पागनी ने पाया की ज़्यादा टीवी देखने वाले बच्चो की 13 साल की उम्र में स्तिथि अत्यधिक जटिल हो जाती हैं तथा माध्यमिक विद्यालय में बिताया गया समय बच्चो के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं . जिन बच्चो की स्तिथि जटिल हो जाती हैं उनका समाज से अलगाव बढ़ जाने खतरा होता हैं .

पागनी ने बताया की स्कूल से पहले की डिसिप्लिन्ड दिनचर्या से बच्चो में कुशलता आती हैं. उन्हें सामाजिक कौशल के विकास में मदद मिलती हैं. जो बाद में बच्चो की पर्सनेलिटी को डिवेलोप करता हैं और व्यक्तिगत वा आर्थिक  सफलता  में सक्षम बनाता है

Web-Title: negative-effects-of-watching-so-much-tv-on-children

Keywords:television,negative, effects, loud behaviour, aloof

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here