जाने मछली खाना क्यों हैं अब नुकसानदेह

1664
Loading...

मछली खाने के बहुत सारे लाभ होते हैं यह हमारे बालो के लिए और त्वचा के लिए बहुत ज़्यादा फायदेमंद होती हैं, मछली खाने के लिए क्यों बोला जाता हैं इसके बहुत सारे कारण होते हैं जिनमे से कुछ इस प्रकार से हैं, मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो आंखों और बालों के लिए बहुत जरूरी है.

आंखों की रोशनी बढ़ानी हो, बालों को घना और खूबसूरत बनाता हो तो लोग मछली खाने की सलाह देते हैं. इसमें प्रोटीन के साथ दूसरे जरूरी मिनरल्स भी होते हैं जो खतरनाक और सामान्य बीमारियों से बचाव करते हैं. इसके अलावा भी यह सेहत के लिए भी बहुत ज़्यादा फायदेमंद होती हैं.

लेकिन क्योंकि जैसे हम पहले कई बार बता चुके हैं की मछली का सेवन एक हद तक होना चाहिए बहुत ज़्यादा सेवन से आपको नुक्सान भी पहुँच सकता हैं, एक रिपोर्ट ने मछली के अधिक सेवन को नुकसानदेह माना है साथ ही इसकी अधिकता से मौत भी हो सकती है. इसके अलावा इसकी कितनी खुराक लेना फायदेमंद होता हैं इसकी भी जानकारी आपको ज़रूरी हैं, यहाँ हम आपको बातएंगे की किस प्रकार आप मछली का सेवन करे जो आपके लिए हो फायदेमंद.

क्यों हैं बहुत ज़्यादा मछली खाना नुकसानदेह:

मछली खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद हैं लेकिन जो लोग मछली का सेवन बहुत ज़्यादा करने लगते हैं उनमे कई प्रकार के विकार उतपन्न हो जाते हैं, नेचर’ नामक पत्रिका में छपे एक रिपोर्ट की मानें तो मछली में मर्करी यानी पारा मौजूद होता है, शरीर में मर्करी का स्तर अधिक हो जाये तो नयूरोलॉजिकल बीमारियां होने लगती हैं और इसके कारण मौत भी हो सकती है. इस हिसाब से आप समझ लें की यह कितनी नुकसानदेह हो सकती हैं. मछलियों में पारा आने का मुख्य कारण होता हैं, फैक्ट्रियों का प्रदूषित पानी जो की समुद्र में जाने के कारण मछली में मर्करी की मात्रा बढ़ रही है, जिसके कारण मछली का अधिक सेवन खतरनाक होता जा रहा है. इसके कारण कमजोरी और आंखों की रोशनी भी कम होने लगती है.

बहुत ज़्यादा मछली खाने के नुक्सान:

Advertisement
Loading...

गर्भवती माहिलाओ के लिए मछली खाना नुकसानदेह हो जाता हैं डॉक्टर्स के अनुसार अधिक वसायुक्त मछली खाने से गर्भवती महिलाओं की कोख में पल रहे बच्चे का जन्म समय से पहले होने का जोखिम बढ़ जाता है। मैकरेल, सालमोन, शॉर्क और सार्डिन्स जैसी छोटी समुद्री मछलियां अधिक नुकसानदेह हैं, इसके अधिक सेवन आपको कई प्रकार की समस्याएं भी हो सकती हैं इसके अलावा आपके बच्चे को भी नुक्सान पहुँच सकता हैं.

मधुमेह का खतरा:

मछली के अधिक सेवन से डायबिटीज का भी खतरा अधिक रहता है, क्योंकि मछली में पाया जाने वाला विषाक्त पदार्थ डायबिटीज के खतरे को बढाता है. इसीलिए बहुत डायबिटीज के मरीज़ों को मछली का सेवन बहुत ज़्यादा नहीं करना चाहिए, छोटी मछलियों में पाया जाने वाला डीडीई केमिकल इसके लिए जिम्मेदार होता है. बड़ी मछलियां जब छोटी मछलियों को खाती हैं तब उनके अंदर यह केमिकल प्रवेश करता है. इसीलिए ऐसे मरीज़ों को सावधान रहने की सख्त आवश्यकता हैं.

कितनी मात्रा में और कैसे खाये मछली:

बढ़ते प्रदूषण के कारण मछली का अधिक सेवन घातक हो गया है. जिसके अधिक सेवन से आपको नुक्सान पहुँच सकता हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार अगर सप्ताह में दो या तीन दिन मछली का सेवन किया जाये तो बुरा नहीं है. अमेरिका स्थित इंवायरमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी (ईपीए) की मानें तो एक सामान्य वयस्क एक दिन में 8 माइक्रोग्राम मछली का सेवन कर सकता है. जो उनके लिए फायदेमंद साबित होगा.

इसके अलावा आप इस मछली का सेवन जो की एक सामान्य वजन वाली सालमन मछली में जिसका वजन 13 आउंस हो, उसका सेवन आप कर सकते हैं. इससे आपको बहुत सारे फायदे मिलेंगे.

in what quantity you should consume fish, here we are giving you tips about how to eat fish and what are the disadvantages of eating so much fish

web-title: eating so much fish is so dangerous

keywords: fish, consume quantity, tips, disadvantages, unhealthy

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here