एलर्जी खासी से हो गए हैं परेशान तो यहाँ पाए इसका समाधान

1131
Loading...

दुनिया की लगभग 30% से अधिक जनसंख्या किसी ना किसी प्रकार कि एलर्जी से पीड़ित हैं मात्र 5% जनसंख्या यह जानती है कि उसे किस चीज की एलर्जी हैं 25% जनसंख्या को यहीं नही मालूम होता की वह किस एलर्जी से पीड़ित हैं. लेकिन बहुत से लोग दुनिया में ऐसे होते हैं जिन्हें पता ही नहीं चलता की वो किस प्रकार की एलर्जी से पीड़ित हैं एलर्जी के कई प्रकार होते हैं.

पीड़ित व्यक्ति को किस चीज़ से एलर्जी हैं यह परिक्षण के बाद ही पता चलता हैं, यहाँ हैम बात करेंगे एलर्जी खासी की, और बताएंगे के किस प्रकार इससे बचा सकता हैं.

एलर्जी खासी:

इससे झुन झुलहाट भी आती हैं सिर भी दुखता हैं, बच्चे खासते खासते उल्टी भी कर देते हैं एवं उल्टी में काफी बलगम भी बाहर आता हैं . इस प्रकार की खासी किसी चीज़ की एलर्जी के कारण होती हैं. इसके लिए आपको

एलर्जी टेस्ट करवाना चाहिए
एलर्जी के कण से बचना चाहिए.
अपने आस पास के वातावरण को बदलना चाहिए.
एलर्जी विशेषज्ञ से दवाएं ले एवं एलर्जी के टीके लगवाएँ, इससे फायदा पहुँचेगा.

जब भी किसी को खासी आती हैं तो हमे यही लगता हैं की यह आदि का असर या फिर किसी प्रकार की ठंडी चीज़ नुक्सान कर गयी हैं, लेकिन क्या आपको पता हैं खासी हमेशा सर्दी, ज़ुकाम या फिर किसी वायरल संक्रमण का लक्षण नहीं होती हैं, कभी-कभी लगातार खासी आना एलर्जी का संकेत भी हो सकता हैं इसके लिए बहुत ज़रूरी हैं की आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे.

आम खांसी अक्सर हल्का बुखार, नाक बह रही है और गले में खराश के साथ लेकिन एलर्जी खांसी बहुत बुरी तरह व्यक्ति को प्रभावित करती हैं जिसके कारण बहुत ज़्यादा तकलीफ होती हैं और कभी-कभी व्यक्ति  कारण कुछ भी खाने पीने से माज़ूर हो जाता हैं. सुखी खासी जो कि निरंतर चलती हैं और बार बार होती हैं को एलर्जी कफ कहा जाता हैं,

एलर्जी खासी के कारण:
Advertisement
Loading...

एलर्जी खाँसी के बहुत सारे कारण हो सकते हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं ये एलर्जी सिगरेट का धुआँ, घर में धूल, पशु बाल के कणों, विभिन्न पौधों के परागों के कारण हो सकती हैं, किसी प्रकार की महक, जैसे गरम मसाले की किचन की मसालो की, खाने की महक के कारण, भी हो सकती हैं, इसके और भी कारण हो सकते हैं सही कारण के लिए टेस्ट करवाना उचित होगा.

एलर्जी के कराक शरीर में साँस द्वारा शरीर में प्रवेश करते हैं और व्यक्ति को अपना शिकार बनाते हैं, जिसके कारण यह खासी फिर लंबे समय तक जारी रहती हैं.

एलर्जी खासी से बचने के उपाय:

एलर्जी का उपचार मुमकिन हैं, लेकिन इसके लिए सबसे पहले एलर्जिक को किस चीज़ से एलर्जी हैं पहले ये पता लगाया जाए इसके लिए उसका ब्लड टेस्ट करना चाहिए, फिर उसकी एलर्जी पता चलने के बाद उसका निवारण करना चाहिए.

एलर्जी से बचने का यही उपाय हैं की जिस चीज़ से आपको एलर्जी हैं उस चीज़ से दूरी बना कर रखे.

धूल धकड़ या किसी चीज़ की स्मेल से एलर्जी हैं तो उससे दूर रहने की कोशिश करे, जब भी बाहर निकले तो मुह में रुमाल या स्कार्फ़ बांध लें ताकि उससे बचा जा सके.

किसी फूल से एलर्जी हैं तो उसे सूंघने की कभी गलती ना करे बल्कि उससे दूरी बनाये रखे.

ठन्डे गरम से परहेज़ करे, अगर आप ए.सी में रहने के आदि हो तो , फ़ौरन गरम में ना जाए वरना ठन्डे गरम का खतरा हो सकता हैं.

जब घर पर सफाई कर रहे हो तो मुह पर स्कार्फ़ बांध कर सफाई करे.

किसी प्रकार की मसाले की महक या फिर किचन की महक से एलर्जी हैं तो वहां ना जाए या फिर अगर जाना मजबूरी हैं तो फिर इसके लिए अपनी नाक को कवर कर के जाए.

गद्दे, रजाई,तकिये के कवर एवं चद्दर आदि समय समय पर गरम पानी से धोते रहे.

पालतू जानवरों से एलर्जी है तो उन्हें घर में ना रखें.

एलर्जी से बचाये ये खाद्य पदार्थ:

सेब:

रोजाना एक सेब खाने से ना सिर्फ आपका इम्यून सिस्टम सेहतमंद रहता हैं बल्कि आप एलर्जी से भी बचते हैं सेब के छिलके में उच्च मात्रा में केर्सेटिन पाया जाता है, जो कि एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर है. आप सेब का जूस भी पी सकते हैं या फिर सेब को सलाद के तौर पर दलिए के साथ भी खा सकते हैं.

हल्दी:

एलर्जी से बचने के लिए हल्दी सबसे दमदार है हल्दी में ताकतवर एंटीऑक्सीडेंट पाएं जाते हैं जो कि एलर्जी से लड़ने में मदद करते हैं, एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पी सकते हैं, आप चाहें तो हल्दी को खाना बनाने के दौरान भी इस्तेमाल कर सकते हैं, इससे आपको गर्मी मिलने के साथ आपकी खासी में फायदा पहुँचेगा.

लहसुन:

लहसुन में मौजूद तत्वों से एलर्जी से लड़ने में मदद मिलती है और यह एक एंटीबायोटिक, एंटीऑक्सीडेंट और इम्यून सिस्टम बढ़ाने वाला खाद्य पदार्थ भी है. इतना ही नहीं, लहसुन का सेवन करने से एलर्जी के मौसम में डॉक्टर के पास जाने की जरूरत भी नहीं पड़ती, एलर्जी से बचने के लिए रोजाना लहसन के दो पीस पीसकर कर खाए यदि जरूरी हो तो डॉक्टर की सलाह पर हल्दी के सप्लीकमेंट्स भी ले सकते हैं

अदरक:

लहसून की तरह अदरक भी बेहद असरदार एंटी एलर्जिक फूड है, अदरक के सेवन से सांस की बीमारी में आराम मिलता है और एलर्जी के कारण अस्थमा होने से भी निजात मिलती है. रोजाना अदरक की चाय 2 बार पीनी चाहिए है चाहे तो अदरक को खाने में भी मिलाया जा सकता है, ये सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है.

इन सब उपायो से आप इस समस्या से बच सकते हैं लेकिन सवाल यह हैं की आप कब तक इन चीज़ों से परहेज़ करेंगे और अगर आपको फिर भी दिक्कत हो रही तो आपको डॉक्टर से सलाह लेना चाहिए.

Allergy cough, its symptoms, causes, allergy cough can be control by these home remedies. This will help you lot more

web-title: best home remedies for allergy cough

keywords: allergy, allergy cough, causes, symptoms, home, remedy

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here