कान को ले कर यह गलतियां की तो हो जाएंगे बहरेपन के शिकार

127
A young businessman looking frustrated at the office
Loading...

शरीर के सारे अंगो की तरह कान भी हमारे शरीर का एक बेहद महत्वपूर्ण अंग हैं जिसके बिना हम सुन नहीं सकते लेकिन क्या आप जानते हैं मात्र 6 हड्डियों से बने कान को आप रोज अनजाने में नुकसान पहुंचाते हैं. इसीलिए आपको अपने दूसरे अंगो की तरह अपने कानो का भी ख्याल अच्छे से रखना चाहिए, रोज़मर्रा में ऐसी बहुत सी गलतियां हैं जो हमलोग करते हैं जिसके कारण हम बहरेपन का शिकार भी हो सकते हैं, कान से जुडी यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी इसीलिए यहाँ हम आपको बताएंगे की इन गलतियों से बचना चाहिए जिससे आपके कान को नुक्सान ना पहुचे.

कान को लेकर कभी ना करे यह गलतियां:

कैंडल से कान की सफाई:

कान में खुजली हो या फिर कान में मैल यानी ईयर वैक्स जमा हो जाये तो उसे निकालने के लिए आजकल लोग मोम का अधिक प्रयोग कर रहे हैं, इस प्रक्रिया को ईयर कैं‍डलिंग कहा जाता है, जिसका इस्तेमाल आजकल ज़ोरो पर हैं लेकिन यह हमारे कान के बहुत नुकसानदेह साबित हो सकता हैं.

न्यूयार्क में हुए एक शोध की मानें तो इस तरीके से कान की सफाई कराना ठीक नहीं हैं इनसे कानों को नुकसान पहुंचता है, इसके कारण कान जल भी सकते हैं और जब ईयरवैक्स पूरी तरह से निकल जाता है तो कान सूख जाते हैं, जिससे सुनने की क्षमता प्रभावित होती है और यह बहरेपन का कारण भी बन सकती हैं, इसलिए कान को साफ करने के लिए कैंडलिंग कराने से बचें.

कान में दर्द हो तो:

छोटी-छोटी समस्या का उपचार हम खुद से करने की सोचते हैं जिसके कारण हम इसे नज़रअंदाज़ करते हैं यही हाल कान के साथ भी है, अगर कान में दर्द हो तो चिकित्सक से संपर्क करने की बजाय लोग इसे नजरअंदाज करते हैं और खुद से ठीक होने का इंतजार भी करते हैं या फिर घरेलू उपचार करते हैं लेकिन अधिक समय तक कान में दर्द होता रहे तो सुनने की क्षमता कम होने लगती है इसीलिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

Advertisement
Loading...

कान में दर्द केवल कान की समस्या के कारण ही नहीं होता, बल्कि अगर जबड़ों, मुंह, गले आदि में किसी तरह की समस्या हो तो कान दर्द करने लगता है कभ-कभी यह किसी तरह की गंभीर बीमारी भी हो सकती है, इसलिए दर्द होने पर डॉक्टर के पास जरूर जायें इसे नज़रअंदाज़ ना करे.

कान में कोई चीज़ डालना:

यह कुछ लोगों की आदत बन जाता है और वे बेमतलब ही अपने कान में पेन, पेंसिल, आदि डालकर हिलाते रहते हैं, और यह हरकत बच्चे भी बहुत ज़्यादा करते हैं इसीलिए ऐसे में बच्चो पर गौर करना बहुत ज़रूरी हैं कई बार तो लोग इस कार्य में बहुत मग्न हो जाते हैं और कानों को घायल तक कर लेते हैं.

जिसके कारण संक्रमण हो सकता है जो कि खतरनाक है कान के चिकित्सक भी कान में कुछ भी डालकर खुजलाने से मना करते हैं फिर चाहे वो कुछ भी हो इसके अलावा कान में खुद से पियरसिंग करने से भी संक्रमण होने का अधिक खतरा रहता है, इसलिए पियरसिंग के लिए विशेषज्ञ के पास जाने में ही भलाई हैं.

कान में उंगली डालना:

जब भी कान में खुजली होती है आप बिना कुछ सोचे-समझे कान में उंगली डालकर आप खुजलाने लगते हैं और यह चीज़ सभी करते हैं यह कॉमन होता नहीं लेकिन यह भी हमारे कान के लिए नुकसानदेह हो सकता हैं. हमारे हाथ के नाखूनों में बैक्टीरिया होते हैं जो आपके कान में जाकर इसे संक्रमित कर सकते हैं. अगर किसी को डायबिटीज है और वह उंगली से कान में खुजली करे तो उसे संक्रमण होने की अधिक संभावना रहती है, इसीलिए इससे बचने का प्रयास करना बहुत ज़रूरी हैं.

ईयरफोन से तेज आवाज में गाना सुनना:

ईयरफोन से बहुत अधिक तेज आवाज में गाना सुनने का आजकल रिवाज हो गया हैं, जब तक गाना तेज़ आवाज़ में ना बजे किसी को भी मज़ा नहीं आता हैं लेकिन क्या आप जानते हैं इस तरह से गाना सुनने से आप बहरे भी हो सकते हैं और यह सच बात हैं.

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन डीफनेस’की मानें तो अमेरिका में मात्र 20 साल की उम्र में 15 प्रतिशत लोग बहरेपन का शिकार हो जाते हैं, इसका कारण ईयरफोन से तेज आवाज में गाना सुनना है.

इसी प्रकार भारतीय पत्रिका ऑक्टोलॉजी में छपे शोध की मानें तो बहरेपन के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार कारकों में ईयरफोन भी है. इसलिए अगर आप इस आदत से मजबूर हैं तो आपको इसे चेंज कर देना चाहिए, वरना आप कुछ सुनने के लायक नहीं रह जाएंगे.

some tips about ear care, read all these tips because if you are doing these things it may cause you deafness.

web-title: avoid these mistakes to prevent deafness

keywords: deafness, ear, care, tips, mistakes

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here