जाने कुपोषण के कारण , लक्षण तथा इससे बचने के घरेलू उपाय

810
Loading...

जैसा की हम जानते हैं की भारत में गरीबी के कारण कोपोषण की समस्या लगातार बढ़ती जा रही लेकिन यह समस्या सिर्फ गरीब बच्चो में नहीं बल्कि अच्छे स्तर के लोगो बच्चो में भी हो रही हैं बहुत सारे माता पिता को नहीं पता होता हैं की बच्चो को किस तरह का आहार देना चाहिए. जो उनके स्वस्थ के लिए उत्तम हो. कुपोषण बच्चो में तब होता हैं जब उन्हें उनकी बॉडी या उम्र के हिसाब से सही वा संतुलित आहार नहीं मिल पाता हैं.
इसलये कोपोषण की जानकारी होना अत्यधिक महत्वपूर्ण होता हैं कोपोषण के कारण बच्चो में सूखा रोग या रतौंधी और यहाँ तक कि अंधत्व भी कुपोषण के ही दुष्परिणाम हैं.

अगर आपको कुपोषण की जानकारी है तो आप अपने बच्चे को इस खतरनाक बिमारी से बचा सकते हैं, इसलये इसकी जानकारी होना अनिवार्य हैं

कैसे पहचाने कोपोषण को:

  • कोपोषण को मुख्यता शरीर की व्रद्धि से पहचान जा सकता हैं जब बच्चे की शरीर की वृद्धि रुक जाए तो सावधान हो जाए.
  • मांसपेशियाँ ढीली होना अथवा सिकुड़ जाना.
  • बच्चो की त्वचा पीली पढ़ जाना वा झुर्रियां आ जाना.
  • बच्चो का अत्यधिक निष्क्रिय होना.
  • बच्चो में चिड़चिड़ापन तथा घबराहट का होना.
  • बाल रुखे और चमक रहित होना.
  • चेहरा कान्तिहीन, आँखें धँसी हुई तथा उनके चारों ओर काला वृत्त बनाना.
  • शरीर का वजन कम होना तथा कमजोर.
  • नींद तथा पाचन क्रिया का गड़बड़ होना.
  • हाथ पैर पतले और पेट बढ़ा होना या शरीर में सूजन आना.

screenshot_13

कोपोषण के कारण 

  • असंतुलित आहार लेना.
  • बच्चो में पोषित आहार का अभाव.
  • प्रोटीन की भयानक कमी का होना.
  • लगातर बच्चे का बीमार रहना ज़रूरीदवा वा इलाज न मिल पाना जिसके कारण कमज़ोरी आ जाती हैं और उन्हें पोषित आहार भी नहीं मिल पाता हैं.
  • गंदगी में रहना या घर में अस्वछता का पाया जाना.
  • बच्चो में नींद की कमी होना, या किसी भी प्रकार से नींद का पूरा न होना.
  • जागरूकता की कमी कुछ लोगो को कोपोषण की जानकारी बिलकुल भी नहीं हैं जिसके कारण वो समझ नही पाते और ये बिमारी बढ़ जाती हैं.

कोपोषण से बचने के घरेलू उपाय:

  • बच्चो को प्रोटीन युक्त भोजन दें उन्हें दाल खूब पिलाये डालो में प्रोटीन की मात्रा बहुत पायी जाती हैं. यह कोपोषण को दूर करने के लिए बेहद ज़रूरी होता हैं.
  • अपने बच्चे को खूब दूध पिलाये रोज़ आधा लीटर दूध बच्चो के लिए ज़रूरी होता हैं. यदि बच्चा दूध पीने में आना कानि करे तो दूध से बनी चीज़ों का सेवन कराये.
  • अपने घर को साफ़ रखे ताकि बच्चे में किसी प्रकार का इन्फेक्शन ना हो.
  • आपके बच्चे की नींद पूरी हो इस बात का ख्याल आपको हे रखना होगा,धयान रखे की बच्चा टाइम पर सोये और उठे. आचे स्वस्त के लिए नींद पूरी होना अति आवश्यक हैं.
  • अपने बच्चे में दुबलेपन को दूर करने के लिए उसे अखरोट खिलाये.
  • बीन्स अधिक से अधिक खिलाये.
  • यदि बच्चे में कोपोषण चरम सीमा पर हैं तो तुरंत डॉक्टर्स से परामर्श कराये, और अच्छे से इलाज कराये.

Web-Title: information about malnutrition and how to control it.

Keywords: malnutrition, causes, symptoms, home, remedy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here