Home Health सावधान! बार-बार हिचकिया आना नहीं हैं सामान्य

सावधान! बार-बार हिचकिया आना नहीं हैं सामान्य

264
SHARE

हिचकी हर किसी को आती हैं, भारत में यह मान्यता हैं की अगर आपको हिचकी आ रही हैं तो इसका मतलब हैं आपको कोई याद कर रहा हैं, लेकिन सच यह हैं की हिचकी पानी की कमी के कारण आती हैं, हिचकी के होने के पीछे के ठोस कारण का पता अब तक नहीं चल सका है लेकिन हिचकी आने का सिर्फ एक यही कारण नहीं हैं कई और भी वजह होती हैं, अगर आपको हिचकी बहुत ज़्यादा आ रही हैं या आपको लगातार दो से तीन दिन तक हिचकी आ रही हैं तो यह आपके लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है.

लगातार हिचकी आने के कारण रोगी को बहुत तरह की परेशानी होने लगती हाँ जैसे सीने में दर्द, खाने में परेशानी होना, उलटी होना बात करने में तकलीफ होती हैं अगर यह आपको सामान्य रूप में आ रहे हैं तब तो कोई बात नहीं लेकिन अगर यह आपको लगातार दो दिन तक आये तो इसका मतलब आपको डॉक्टर से परामर्श लेने की सख्त आवश्यकता हैं. अमूमन डायफ्राम की मसल्स के अचानक सिकुड़ने की वजह से हिचकी की स्थिति बनती है.

अगर यह हैं स्तिथि तो सावधान हो जाए:

हिचकी का होना साधारण भी हो सकता है जैसा की हम पहले आपको बता चुके हैं, लेकिन कई बार ये निमोनिया, किडनी फेलियोर या स्ट्रेस जैसी समस्याओं से भी जुड़ी हो सकती है. ऐसे में इसे पूरी तरह नजरअंदाज करना ठीक नहीं हैं अगर आपको लगातार हिचकियो का सामना करना पड़ रहा हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर्स से परामर्श लेना चाहिए, कई लोगों में तो हिचकी की परेशानी सालों-साल चलने वाली होती है और काफी इलाज के बाद भी इसमें राहत नहीं मिल पाती हैं.

जब हिचकी इस तरह से आये तो नज़रअंदाज़ ना करे:

जब हिचकी आते समय आपके साथ यह भी समस्याए हो तो आपको इसे बिलकुल भी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए.

जब हिचकी दो दिन से ज्यादा लगातार आ रहे हैं और बंद नहीं हो रह हैं.

हिचकी के कारण भोजन करने में तकलीफ आए और भोजन गले में आने लगे या उल्टी हो जाए.

हिचकी के साथ बुखार आये या पेट दर्द भी हो और थूक में खून आजाये.

हिचकी की वजह से नींद ना आये.

हिचकी के समय सांस लेने में कठिनाई महसूस होना.

अगर आपके यह लक्षण हैं तो आपको बहुत ज़्यादा सावधान होने की ज़रूरत हैं, कई बार सामान्य हिचकियो को ऐसे वक्त में तेजी से पानी पीने, अचानक झटके से ध्यान भंग करने, कान की लौ को पकड़ने या सांस को कुछ देर रोकने जैसे उपायों से आराम मिल जाता हैं, लेकिन अगर आपके लक्षण ऊपर दिए गए लक्षणों जैसे हैं तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए.

हिचकी रोकने के लिए घरेलू उपाय:

अगर आप इन घरेलू उपाय को अपनाएंगे तो आपको इस समस्या से आराम मिल सकता हैं लेकिन अगर इनके बाद भी आराम न मिले तो डॉक्टर के पास जा कर आप टेस्ट ज़रूर करवाये.

कुछ देर के लिए अपनी सांसों को रोके :

एक लंबी सांस लें और उसे कुछ सेकेंड के लिये सास को रोक कर रखें, जानकारों के मुताबिक जब फेफड़ों में जमा कार्बन डाइऑक्‍साइड भर जाएगा और डायफ्राम उसे निकालेगा तो हिचकी आना खुद-ब-खुद बंद हो जाएगी. इसीलिए इस टाइम थोड़ा धैर्य से काम लें और इसके खुद बा खुद बन्द होने का इंतज़ार करे.

चीनी खाये:

हिचकी आने पर तुरंत एक चम्मच चीनी का सेवन करने से आपको बहुत आराम मिलेगा, इससे थोड़ी देर में ही हिचकी आना बंद हो जाती हैं, घोल में चुटकी भर नमक भी मिला दे और इस पानी को थोड़ा-थोड़ा और धीरे-धीरे पीए सिप कर के पीने से हिचकी थोड़ी देर मे बंद हो जायेगी.

नमक का पानी :

थोड़े से नमक को पानी में मिलाकर एक या दो घूंट पीएं. इससे हिचकी आना तुरंत बन्द हो जायेगी और आपको अपनी इस समस्या से आराम मिल जाएगा.

काली मिर्च का नुस्खा:

तीन काली मिर्च थोडी सी चीनी या मिश्री का एक टुकडा मुंह में रखकर चबायें, और उसका रस चूंसते रहे, चाहे तो एक घूंट पानी पी सकते है, इससे तुरंद हिचकी बन्द हो जाती हैं इससे आपको बहुत जल्दी बस एक मिनट में आराम मिल जाता हैं.

उल्टी गिनती गिने:

जानकारों के मुताबिक उल्टी गिनती करने और अचानक उस व्यक्ति को डराने से भी सामान्य हिचकी ठीक हो जाती है. उल्टी गिनती का मतलब से 100 से 1 की तरफ गिनती करना. इससे व्यक्ति का दिमाग भटकता हैं और हिचकी बन्द हो जाती हैं.

टमाटर का सेवन:

हिचकी आने पर तुरंत टमाटर को धो कर दांतों से काट कर खाएं हिचकी ठीक हो जाएगी साथ ही जब हिचकी आए तो एक चम्मच पीनट बटर लें और खाएं, इससे भी आराम मिलता हैं, इससे सांस लेने की प्रक्रिया में बदलाव होगा और हिचकी बंद हो जाएगी.

if you are fed up with hiccups and you want instant relief from it, use these tactics that will assure to get rid of from hiccups

web-title: best remedies for hiccups

keywords: hiccups, symptoms, causes, home, remedies