SHARE

मूली लगभग हर घर में मूली खायी जाती हैं, मूली में प्रोटीन, कैल्शियम, आयोडीन तथा आयरन तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं. साथ ही इसमें सोडियम, फॉस्फोरस, क्लोरीन मैग्नीशियम और विटामिन ‘ए’ भी होता है. हमें विटामिन ‘बी’ और ‘सी’ भी इससे मिलता हैं, ताजा मूली खाने से पाचनशक्ति बढ़ती है पेट और मूत्र विकार ठीक होते हैं. इसके अलावा यह आपको कई तरह से फायदे पहुँचा सकती हैं.

मूली खाने के फायदे

मोटापा घटाए:

मोटापा अनेक बीमारियां की जड़ है अगर आप भी मोटापे से परेशान हैं तो आपके लिए मूली बहुत लाभदायक साबित हो सकती है, अगर आप रोज़ाना मूली का सेवन करते हैं तो यह आपके मोटापे को कम कर सकती हैं. इसके रस में थोड़ा-सा नमक और नीबू का रस मिलाकर नियमित रूप से पीने से मोटापा कम होता है इससे चर्बी घट जाती हैं और यह शरीर को सुडौल बनाता हैं.

पेट का भारीपन दूर करें:

पेट के लिए मूली बहुत ज़्यादा फायदेमंद होती है. मूली एक पाचक की तरह भी काम करती है, पेट की कई बीमारियों में मूली का रस बहुत फायदेमंद होता है, इससे कब्ज़ भी दूर किया जा सकता हैं, अगर पेट में भारीपन महसूस हो रहा हो तो मूली के रस को नमक में मिलाकर पीने से आराम मिलता है. इससे आपके पेट की बिमारियां खत्म हो जाती हैं.

यूरीन संबंधित रोगों के लिए फायदेमंद:

यूरीन पास करने में दिक्कत होने पर मूली के रस का सेवन कीजिए, इसके अलावा यह यूरिन से जुडी सभी बीमारियों को खत्म करती हैं, साथ ही यूरीन से जुड़ी अन्‍य समस्‍याएं जैसे यूरीन आना बंद होना, जलन या रूक-रूक कर आना हो तो मूली का रस बहुत फायदेमंद होता है.

सौन्दर्यवर्धक:

मूली सौन्दर्यवर्धक भी होती है, इससे आपकी त्वचा संबंधी साड़ी परेशानियां खत्म हो जाती हैं. इसका नियमित रूप से सेवन करने से रक्त शुद्ध होता है. जिससे रंग निखरता है, खुश्की दूर होती है और चेहरे की झाइयां, कील-मुहांसे आदि साफ हो जाते हैं.

हड्डियों को मजबूत करें:

मूली शरीर से विषैली गैस कार्बन-डाईआक्साइड को निकालकर जीवनदायी आक्सीजन प्रदान करती है, साथ ही यह शरीर को डिटॉक्स करने का कार्य करती हैं इसके अलावा मूली में पाया जाने वाला कैल्शियम दांतों तथा हडि्डयों को मजबूत करता है.

लीवर को करे मज़बूत:

मूली खाने से लिवर मजबूत होता है. आगरा आप[को किसी प्रकार की लिवर संबंधी समस्या हैं तो आपको मूइलि का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए, साथ ही पीलिया रोग में भी ताजा मूली का प्रयोग बहुत ही उपयोगी होता है. नियमित रूप से एक कच्‍ची मूली सुबह खाने से कुछ ही दिनों में पीलिया रोग ठीक हो जाता है.

दांतों और मसूड़ों के लिए:

मूली के रस से कुल्ला करना, मसूड़ों-दांतों पर मलना और पीना दांतों के लिये बहुत लाभकारी है. मूली को चबा-चबा कर खाना दांतों व मसूड़ों को निरोग करता है. साथ ही यह दांतों का पीलापन भी दूर करता है, इसके अलावा अगर आप मूली के टुकड़े पर नींबू का रस लगाकर दांतों पर लगाने से दांतों पर चढ़ी पीली परत हट जाती है.

खून की कमी करे दूर:

जिन लोगों में खून की कमी होती है उनके लिए मूली का नियमित सेवन लाभकारी होता हैं, मूली के रस में समान मात्रा में अनार का रस मिलाकर पीने से रक्त में हीमोग्लोबिन बढ़ता है और यह खून की कमी को दूर करता हैं.

अस्थमा में उपयोगी:

मूली की तासीर ठण्डी मानी जाती है इसलिए कहा जाता है कि मूली खांसी बढ़ाती है लेकिन यह धारणा गलत है.
दरअसल मूली अस्‍थमा और खांसी के मरीजों को मूली का सेवन करना चाहिए, सूखी मूली का काढ़ा बनाकर जीरे और काला नमक के साथ सेवन करने से न केवल खांसी बल्कि अस्‍थमा में भी लाभ होता है.
health benefits of radish and its home remedies, it help you to reduces your weight and also helpful in urine problems, also resolves your many problem

web-title: health benefits of radish

keywords: radish, health, benefits, home, remedies

ईलाज की एंड्राइड एप्स इनस्टॉल करें-क्लिक करें
सेक्स सम्बन्धी समस्याओं का हल जानने के लिए यहाँ क्लिक करें
Facebook Comment